SEO क्या है? वेबसाइट का SEO कैसे करें?

आपने शायद कई बार सुना होगा कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ) एक महत्वपूर्ण डिजिटल मार्केटिंग टूल है। इस पोस्ट में आप जानेंगे SEO Kya Hai ? वेबसाइट का SEO कैसे करे?

आज इंटरनेट पर आपको SEO Expert कहने कई लोग मिल जाएंगे। भले ही आपको इसकी बेसिक समझ हो। फिर भी आपको हमेशा अपडेट रहना होता है। क्यूंकि SEO में हमेशा बदलाव आते रहते हैं।

SEO कई अलग-अलग एलिमेंट्स होते हैं। SEO महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपकी वेबसाइट को अधिक विज़िबल बनाता है, और इसका अर्थ है कि अधिक ट्रैफ़िक और ग्राहकों में संभावनाओं को बदलने के अधिक अवसर।

इसके अलावा, यह ब्रांड जागरूकता, संभावनाओं के साथ संबंध बनाने और अपने क्षेत्र में एक आधिकारिक और भरोसेमंद विशेषज्ञ के रूप में खुद को स्थापित करने के लिए भी SEO एक मूल्यवान उपकरण है। अब यहां आपको SEO के बारे में जानने की जरूरत है और आज की डिजिटल दुनिया में यह क्यों महत्वपूर्ण है।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है? | SEO Kya Hai

SEO का पूरा नाम सर्च इंजन ऑप्टिमाइज़ेशन है।” सरल शब्दों में, इसका अर्थ यह है कि जब लोग Google या दूसरे सर्च इंजनों में आपके बिज़नेस से संबंधित प्रोडक्ट्स या सेवाओं की सर्च करते हैं, तो आपकी साइट की विजिबिलिटी बढ़ाने के लिए इसे बेहतर बनाने की प्रक्रिया है। सर्च रिजल्ट्स में आपके पेज की विजिबिलिटी जितनी बेहतर होगी, आपके बिज़नेस की ओर ध्यान आकर्षित करने और संभावित और मौजूदा ग्राहकों को आकर्षित करने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।

वेबसाइट का एसईओ क्यों करें?

क्या आप अपने वेबसाइट अधिक ट्रैफिक या ग्राहक चाहते हैं? बिलकुल कौन नहीं चाहता? मैं भी चाहता हूं और आप भी।

अगर आपका जवाब हां है तो निश्चित रूप से आपको एसईओ सर्विसेज की जरूरत है आपके वेबसाइट के लिए ऑनलाइन बिजनेस के लिए।

हो सकता है अभी आपके दिमाग में आ रहा हो की मेरे वेबसाइट अधिक ट्रैफिक, अधिक ग्राहक क्यों नहीं आ रहे हैं? और ये जो आप सोच रहे हैं वो भी सही है।

लेकिन असली सवाल ये है कि – आप खुद के वेबसाइट पर अधिक ट्रैफिक और ग्राहक कैसे पा सकते हैं?

क्या एसईओ आपके ट्रैफिक और ग्राहक को बढ़ाने में कोई रोल प्ले करता है?

अगर मैं अपने एक्सपीरियंस से बताउ टू मार्केटमें लॉन्ग रन करने के लिए आपको एसईओ पर फोकस करना ही होगा।

यहाँ मैं छोटी कहानी शेयर करना चाहता हूं आप फिर आगे हम जारी रखेंगे। मैंने कॉलेज टाइम में एक आध्यात्मिक संगठन से कनेक्ट था। वर्ल्ड वाइड आज इनके लाखों फॉलोअर्स हैं। मैने इनके लिए ब्लॉग बनाई थी। वैसे इनकी वेबसाइट पहले से थी।

यहाँ मुझे सबसे दिलचस्प ये लगा की मैंने जो ब्लॉग बनाई थी उस पर अधिक ट्रैफिक था जबकी उनकी आधिकारिक वेबसाइट पर बहुत कम । उस वक्त मुझे पता लगा इसकी वजह है आपके साइट का कंटेंट और एसईओ। क्यूंकी ये आप भी जाते हैं आपके साइट के यूआरएल से काम और सर्च इंजन से अधिक आते हैं। जैसे हम ऑर्गेनिक ट्रैफिक कहते हैं।

अब मैं यहाँ उदाहरण के माध्यम से आपको समझाता हुं एसईओ का महत्व क्या है?। क्या आपको पता है इंडिया में सबसे अधिक वर्कर्स इंडियन रेलवे के अंदर काम करते हैं। रेलवे की साइट पर भी नौकरी और अन्य जानकारी के लिए भारी विजिट होते हैं।

लेकिन जब आप गूगल पर रेलवे जॉब सर्च करते हैं। आपके सामने रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड की ऑफिसियल साइट टॉप में आनी चाहिए। लेकिन ये क्या???

Website-Ka-SEO-Kyu-Karein

यहाँ तो सर्च रिजल्ट के टॉप में फ्रेशलाइव और फ्रीजॉब अलर्ट्स के वेबसाइट शो हो रहे हैं। जबकी ये एड्स वाले सर्च रिजल्ट्स भी नहीं हैं। फ़िर ऐसा क्यू?

उत्तर है कंटेंट और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ)। अपने खुद देखा की 2 ऐसी साइट जो भारतीय रेलवे के आधिकारिक पोर्टल को भी चुनौती दे रही है।

SEO करने के लिए आपको अपने ग्राहक या विज़िटर्स को ध्यान में रख के रणनीति बनानी होगी।

तो आइये एसईओ के कुछ मत्वपूर्ण एलिमेंट्स को समझते हैं।

SEO के महत्वपूर्ण एलिमेंट्स

जैसा की मैंने आपको बताया की SEO में कई तरह के एलिमेंट्स होते हैं। यहाँ मैंने कुछ SEO के महत्वपूर्ण एलिमेंट्स के बारे में बताया है।

Keyword | कीवर्ड

वे दिन बीत चुके हैं जब कीवर्ड एकमात्र SEO तकनीक थी जो मायने रखती थी, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे अभी भी महत्वपूर्ण नहीं हैं। अंतर यह है कि आज, बढ़िया कीवर्ड्स पर अच्छी तरह से शोध किया जाना चाहिए, ध्यान से चुना जाना चाहिए और आपके कंटेंट सामग्री में विवेकपूर्ण तरीके से उपयोग किया जाना चाहिए।

लेकिन कीवर्ड क्या हैं? कीवर्ड ऐसे शब्द और वाक्यांश हैं जिनका उपयोग हम ऑनलाइनकंटेंट को सर्च करने के लिए करते हैं। बिज़नेस या ब्रांड अपने ग्राहकों को जोड़ने के लिए इसका उपयोग कर सकते हैं। जो किसी प्रोडक्ट्स या सर्विसेज की तलाश में हैं।

अगर आपकी वेबसाइट नई है तो कीवर्ड रिसर्च करते समय इन बातों का ध्यान रखें।

  • Keyword Research करते समय, high search rates और low competition वाले keywords की तलाश करनी चाहिए।
  • Short-tail keywords को फोकस ना करें। जैसे : Yoga
  • वेबसाइट के लिए long-tail keywords का चुनाव करें। जैसे : छोटे बच्चों के लिए योगा
  • साथ ही जरुरत के लोकल कीवर्ड को चुनना महत्वपूर्ण है। दिल्ली में बच्चों के लिए योगा स्कूल

इस तरह से कीवर्ड का चुनाव करके आपके कंटेंट बना सकते हैं।

आप अपने सभीटाइटल , URL और अन्य ऑन-पेज SEO एलिमेंट्स को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए कीवर्ड का उपयोग कर सकते हैं।

कंटेंट

आपका कंटेंट एसईओ का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। शायद आपने सुना होगा Content is King. क्योंकि कंटेंट वो गाड़ी है जिसका उपयोग आप दर्शकों तक पहुंचने और उन्हें जोड़ने के लिए करते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि आपके पास एक नर्सरी है और आप अपनी विजिबिलिटी बढ़ाना चाहते हैं, तो आप बागवानी, पौधों की सही प्रजातियों का चयन, उगाने के टिप्स आदि के बारे में ब्लॉगों की एक सीरीज पब्लिश कर सकते हैं। जब कोई व्यक्ति जो बागवानी के बारे में जानना चाहता है , तो वो आपके ब्लॉग पर आएगा। आप मूल्यवान जानकारी प्रदान करके उस विजिटर के साथ संबंध बनाने में सक्षम होंगे।

जब उस विजिटर के लिए एक पौधा खरीदने का समय आएगा। तो आप पहली नर्सरी होंगे जो उसके दिमाग में आएगा। आज के समय में आपका कंटेंट शैक्षिक, लेकिन दिलचस्प, प्रासंगिक, आकर्षक और साझा करने योग्य भी होनी चाहिए।

कंटेंट विभिन्न रूपों में आती है, जिनमें शामिल हैं:

  • वेब पेज सामग्री
  • वीडियो
  • ब्लॉग
  • इन्फोग्राफिक्स
  • पॉडकास्ट
  • ई-बुक्स
  • सोशल मीडिया पोस्ट
  • स्थानीय लिस्टिंग

ऑफ-पेज एसईओ

ऑफ-पेज एसईओ में वेबसाइट को बाहरी रूप से ऑप्टिमाइज़ किया जाता है। ऑफ-पेज एसईओ के लिए उपयोग की जाने वाली मुख्य तकनीक बैकलिंक बिल्डिंग है क्योंकि बाहरी साइटों से आपकी साइट पर गुणवत्ता वाले बैकलिंक्स सर्च इंजन को बताते हैं कि आपकी साइट मूल्यवान और उच्च गुणवत्ता वाली है, और यह अथॉरिटी भी बनाता है।

बैकलिंक बिल्डिंग के लिए कई रणनीतियां हैं, और कुछ मौजूदा समय मेंगेस्ट ब्लॉगिंग शामिल है, बहुत सारे इन्फोग्राफिक्स बनाना जो अत्यधिक शेयर किए जाएंगे, और आपकी कंटेंट में प्रभावशाली लोगों का उल्लेख करना शामिल है।

Local SEO | लोकल एसईओ

लोकल एसईओ तेजी से महत्वपूर्ण होता जा रहा है क्योंकि अधिक से अधिक लोग सर्च के लिए मोबाइल डिवाइसका उपयोग करते हैं। इन दिनों, सभी सर्चेस में से 57% टैबलेट और स्मार्टफ़ोन से की जाती हैं, और उनमें से आधी खोजों का उद्देश्य स्थानीय होता है।

उदाहरण के लिए, यदि आपके पास एक होटल है, तो लोकल एसईओ यह सुनिश्चित करेगा कि जब आपके क्षेत्र के लोग शहर में सबसे अच्छे होटल को सर्च करने पर आपकी साइट पर आएं। लोकल कीवर्ड का उपयोग करने के साथ, अन्य लोकल SEO के लिए बिज़नेस लिस्टिंग करना, आपकी साइट के लिए लोकल बिज़नेस पेज बनाना और Google MY business और Google मानचित्र पर आपके व्यवसाय के लिए पेज बनाना शामिल है।

 ये भी पढ़ें : गूगल मैप पर अपना बिज़नेस कैसे डालें

सर्च इंजन मार्केटिंग

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) एक पेड मार्केटिंग टेक्निक है। इसमें मूल विज्ञापन, Google ऐडवर्ड्स, सोशल मीडिया विज्ञापन, पे पर क्लिक,Google शॉपिंग विज्ञापन, बैनर विज्ञापन, और बहुत कुछ शामिल हैं।

हालांकि एसईएम आमतौर पर एक व्यापक एसईओ रणनीति का एक प्रमुख घटक नहीं है, लेकिन इसका अपना स्थान है क्योंकि यह आपको नए और अत्यधिक टार्गेटेड दर्शकों तक पहुंचने में मदद कर सकता है।

SEO बिजनेस के लिए क्यों जरूरी है?


Google अपने SERPs पर दिखाई देने वाली वेबसाइटों की रैंकिंग निर्धारित करते समय कई अलग-अलग कारकों को देखता है। वे ऐसे कंटेंट खोजना चाहते हैं जो उपयोगकर्ता की क्वेरी के लिए प्रासंगिक हो, लेकिन उस पर पाठक के लिए मूल्य प्रदान करने के लिए भी भरोसा किया जा सकता है।

जब कंटेंट SERP पर उच्च रैंक प्राप्त करती है, तो उसके पास निम्न रैंक वाली सामग्री की तुलना में क्लिक और ध्यान आकर्षित करने की अधिक संभावना होती है।

अनुमानित 30% क्लिक SERP पर स्थिति एक में खोज परिणामों पर जाएंगे। पेज के निचले भाग में, नौ और दस की स्थिति वाली साइटों को केवल लगभग 2% क्लिक प्राप्त होते हैं। (स्मार्ट इनसाइट्स 9/2016)

टॉप और निम्न रैंकिंग साइटों के बीच असमानता स्पष्ट रूप से इंगित करती है कि ऑनलाइन ग्राहकों से ध्यान आकर्षित करने वाले ब्रांडों को अपनी रैंकिंग बढ़ाने की आवश्यकता है। लगभग सभी व्यवसायों के लिए डिजिटल इको सिस्टम तेजी से सेल्स फ़नल का एक अनिवार्य हिस्सा बनता जा रहा है। लगभग आधे खुदरा विक्रेताओं का यह भी कहना है कि ग्राहक ऑनलाइन शोध करना पसंद करते हैं, भले ही वे किसी स्टोर में खरीदारी ही क्यों न करें। ब्रांडों को यह सुनिश्चित करने के लिए एसईओ पर ध्यान देने की जरूरत है कि ग्राहकों के लिए उनकी आवाज और विजिबिलिटी से समझौता नहीं किया गया है।

व्यवसायों की ऑनलाइन सफलता के लिए SEO एक महत्वपूर्ण घटक बन गया है। जो लोग यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनके संगठनों की मजबूत उपस्थिति है और वे आधुनिक ग्राहक को शामिल करने के लिए तैयार है।

ऑर्गेनिक वेबसाइट ट्रैफिक आपके बिजनेस की वेबसाइट को 50% बूस्ट करता है। बांकी के लिए आप सोशल मीडिया और पेड ट्रैफिक का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

तो आप कहां से आरंभ करने वाले हैं?
मेरी सलाह होगी कि आप एक संतुलित डिजिटल इको सिस्टमका निर्माण करें, जो आत्मनिर्भर हो और आपके संसाधनों को खत्म न करे।

ऐसी प्रणाली कम से कम 50% योगदान के साथ सर्च इंजन (गूगल, बिंग, यांडेक्स) से आर्गेनिक वेबसाइट ट्रैफ़िक देती है। ऐसा होने के लिए, आपको एक अच्छी एसईओ सेवा किराए पर लेनी होगी।

निजी तौर पर, मैं सोचता हूं बिजनेस की शुरुआत SEO का इस्तेमाल करके और ऑनलाइन उपस्थिति बढ़ा कर अच्छा रेवेन्यू जेनरेट कर सकते हैं।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कितने प्रकार के हैं

SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन) वेबसाइट की अच्छी रैंकिंग और हाई ट्रैफिक के लिए जरुरी है। अगर आप अपने वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ाना चाहते हैं तो SEO करना ही होगा। SEO मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं।

1. ON Page SEO

2. OFF Page SEO

ऑन पेज एसईओ | On Page SEO

  • Start title tag with your keyword
  • Wrap your title in an <h1> tag
  • Add proper images, videos and Diagrams in your article
  • Drop your keyword in first 100 words
  • Use outbound links
  • Internal links
  • Use proper <h2> <h3> tags for Heading and sub Heading
  • Optimize page speed
  • Fast loading pages
  • Top quality fresh content

ऑफ पेज एसईओ | Off page SEO

  • Link building
  • Social media Marketing
  • Social Bookmarking

किसी बिजनेस के ऑनलाइन सक्सेस के लिए एसईओ एक मेजर रोल प्ले करता है।

यहाँ मैं 4 ऐसे कारण बता रहा हूं, जिसमे आप जानेंगे की बिजनेस या वेबसाइट का एसईओ क्यों करें?

वेबसाइट का एसईओ क्यों करें?

आपको निवेश का उच्च रिटर्न देता है


SEO के लिए जब आप कोई एजेंसी हायर करते हैं तो उसका फायदा आपको मिलता है। एसईओ में कोई डिजिटल प्रचार, अभियान या विज्ञापन नहीं की जाती है। इसलिय डायरेक्ट इस्का अनुभव आपको नहीं होता है। और एसईओ कोई जादू को छडी भी नहीं है की घुमाया और हो गया। लेकिन जब आप अपने साइट की एसईओ करते हैं तो धीरे-धीरे इसका परिणाम आप सर्च इंजन और अपने वेबसाइट की ट्रैफिक पर देख सकते हैं।

एसईओ काम करता है


SEO के लिए अगर आप वन टाइम इनवेस्ट करने की सोच रहे हैं तो आप गलत हैं। ऐसा बिलकुल भी नहीं है की आज आपके अपनी वेबसाइट की एसईओ करवा ली और वो लाइफ टाइम आपका वैसा ही रहेगा। समस्या यहाँ ये है की सर्च इंजन के एल्गोरिदम हमेशा अपडेट होते रहते हैं। तो आपके सर्च रिजल्ट्स को प्रभावित करते हैं। आगर आप नॉन स्टॉप सर्च में बरकरर रहने चाहते हैं तो आपको ऐसी एजेंसियों को चुनना चाहिए जिसे आपने लंबे समय तक रिलेशनशिप बना रहे।

यह अच्छी प्रतियोगिता की शुरुआत करता है


आपको ये हमें याद रखना होगा की आप के प्रतियोगी भी नंबर 1 की स्थिति के लिए काम कर रहे हैं। तो ऐसे में आपको अपना कंटेंट और विजिटर्स के साथ अच्छा रिलेशन बिल्डअप करना बहुत जरूरी है। जिससे एक अच्छे कम्पटीशन का निर्माण होता है। आपने सब कुछ किया एसईओ भी और प्रमोशन भी किया। पर आपके ग्राहक के साथ रिलेशनशिप बिल्ड अप नहीं किया तो सभी मेहनत बेकार। seo service आपको आपको विज़िटर्स दे सकता है लेकिन उन्हें जोड़ के रखने में आपका भी रोल होता है।

आपके ग्राहक स्मार्टफोन यूजर हैं


आपको ये बात भी याद रखना चाहिए की आपके विज़िटर्स के पास अब स्मार्टफोन हैं। वो आप तक अपने सेलफोन के द्वारा ही पहुंचे हैं। ऐसे में आपके वेबसाइट का मोबाइल फ्रेंडली डिजाइन और मोबाइल यूजर्स को ध्यान में रख कर एसईओ को इस्तेमाल करना जरुरी है। Google भी मोबाइल उपयोगकर्ता के लिए अलग से सर्च रिजल्ट्स प्रदान करता है। तो ये जरुरी है की डेस्कटॉप यूजर्स के साथ आप स्मार्टफोन यूजर्स पर भी फोकस करें।

पूछे जाने वाले प्रश्न

SEO का क्या मतलब है?

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (एसईओ) गूगल जैसे सर्च इंजन में पेजों को उच्च रैंक दिलाने की कला और विज्ञान है। क्योंकि सर्च मुख्य तरीकों में से एक है जिसमें लोग ऑनलाइन कंटेंट खोजते हैं, सर्च इंजन में उच्च रैंकिंग से वेबसाइट पर ट्रैफिक में वृद्धि हो सकती है।

SEO कैसे किया जाता है?

दूसरे शब्दों में, SEO अर्थ में आपकी वेबसाइट के डिज़ाइन और सामग्री में कुछ बदलाव करना शामिल है जो आपकी साइट को एक सर्च इंजन के लिए अधिक आकर्षक बनाते हैं। आप ऐसा इस उम्मीद में करते हैं कि खोज इंजन आपकी वेबसाइट को खोज इंजन रिजल्ट्स पेज पर शीर्ष परिणाम के रूप में प्रदर्शित करेगा।

क्या SEO आसान है?

SEO आपके विचार से आसान होने की संभावना है, इसमें लगने वाले समय और प्रयास को कम मत समझिए। आप इसमें जो कुछ भी डालते हैं वह आपको मिलेगा, इसलिए यदि आप दिन में केवल कुछ मिनट बिताते हैं, तो टॉप लेवल रिजल्ट्स में दिखने की उम्मीद न करें।

क्या SEO में पैसे खर्च होते हैं?

तकनीकी रूप से, SEO मुफ़्त है। आप SERP प्लेसमेंट के लिए पैसे नहीं दे रहे हैं। Google सामग्री को E-A-T: विशेषज्ञता, अधिकार और विश्वास के आधार पर रैंक करता है। वे उन लोगों की रैंकिंग कर रहे हैं जिन्हें उपयोगकर्ताओं के लिए मूल्यवान संसाधनों के रूप में देखा जाता है।

1 thought on “SEO क्या है? वेबसाइट का SEO कैसे करें?”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.